श्रुति के साथ चुदाई का मज़ा

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम हितेश है. में बहुत ही स्मार्ट हूँ. आज में आप लोगों के सामने अपनी एक स्टोरी लाना चाहता हूँ, जो कि मेरे साथ रियल में घटी है. में 20 साल का लड़का हूँ और दिल्ली में रहता हूँ. में दिल्ली के एक कॉलेज से बी.कॉम कर रहा हूँ. मेरे एक गर्लफ्रेंड है, उसका नाम श्रुति है, वो दिखने में बहुत स्मार्ट है, लेकिन वो थोड़ी तुतलाकर बोलती है, उसका फिगर बहुत मस्त है, क्या बताऊँ? उसकी खड़ी चूची तो बस पूछो ही मत, जो देखे बस देखता ही रह जाए. मैंने उसे कॉलेज में बहुत मुश्किल से पटाया था और में चाहता था कि में उसको चोदूं, लेकिन ना जाने में कभी कर ही नहीं पाया था. फिर 1 साल के बाद मेरा दिल नहीं माना और मुझसे नहीं रहा गया और फिर मैंने उससे कहा कि कल हम चिड़ियाघर घूमने चलेंगे. तो पहले तो वो मान नहीं रही थी, फिर बड़ी मुश्किल से मैंने उसे मनाया, तो वो मान गई. में जानता था कि अब में जरूर कामयाब हो जाऊंगा.

फिर में सुबह होते ही नहा धोकर अपनी बाइक लेकर समय पर पहुँच गया और उसको बस स्टेंड से पिक करके सीधा ज़ू लेकर गया और फिर वहाँ हमने जानवर देखे और उसके बाद खाना खाया. फिर उसके बाद श्रुति बोली कि में बहुत थक गई हूँ.

तब मैंने उससे कहा कि कहीं चलकर घास में लेट जाते है, तो वो मान गई. फिर में उसको एक कोने में ले गया, जहाँ कोई आता जाता ना हो. फिर उसके बाद में उसे किस करने लगा. अब वो भी किस कर रही थी.

मैंने उसके बूब्स पर अपना एक हाथ लगाया. तो वो भड़क गई और बोली कि यह गलत है, लेकिन मैंने उससे कहा कि इसमें कुछ गलत नहीं है, लेकिन वो ना-ना करती रही. फिर मैंने उससे कहा कि अगर यह गलत है तो में तुमसे कभी भी बात नहीं करूँगा, तुम देख लेना, तो फिर वो मान गई.

फिर मैंने उसे स्माइल करने को कहा और फिर उसे किस करने लग गया और बाद में उसके बूब्स भी दबाने लगा था. अब वो गर्म हो रही थी, अब उसके मुँह में से गर्म-गर्म सांसे निकल रही थी. फिर उसके बाद में मैंने उसके टॉप के अंदर अपना एक हाथ डाला और उसके बूब्स दबाने लग गया और उसके बाद में मैंने उसका लाल कलर का टॉप उतार दिया और उसकी सफ़ेद कलर की ब्रा भी उतार दी. अब हम बहुत कोने में थे, वहाँ कोई नहीं आता था.

मैंने उसकी पैंट की चैन भी खोल दी और फिर उसकी पैंट भी उतार दी, उसने गुलाबी कलर की पैंटी पहनी थी. फिर मैंने उसकी पैंटी के अंदर अपना एक हाथ डाल दिया तो तब मुझे पता चला कि उसकी पैंटी गीली हो चुकी थी, वो झड़ चुकी थी, लेकिन में उसे किस करता रहा और उसके बाद में उसके बूब्स चूस रहा था. उसके बूब्स बहुत बड़े-बड़े थे और उसकी निप्पल गुलाबी रंग की थी.

फिर उसके बाद मैंने उसकी चूत चाटी. अब वो मेरे सिर को अपनी चूत के ऊपर दबा रही थी. अब में जान चुका था कि इसको चोदने का यही सही वक्त है. फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसके एक हाथ में दे दिया तो वो मेरे लंड को देखकर हैरान हो गई और बोली कि इतना बड़ा और इतना मोटा. लेकिन मैंने उसकी एक नहीं सुनी और झट से अपना लंड उसके मुँह में दे दिया, तो वो मेरे लंड को चूसने लगी. फिर उसके बाद में उसने अपनी चूत में डालने से मना कर दिया और बोली कि बगैर कंडोम के अगर तुम मुझे चोदोगे तो बच्चा हो जाएगा. तो तब मैंने उससे कहा कि में झड़ने से पहली ही बाहर निकाल लूँगा, तुम चिंता मत करो, तो वो मान गई.

मैंने उसकी चूत चाट को चाटकर उस पर थोड़ा सा थूक लगाकर उसकी चूत के ऊपर अपने लंड का सुपाड़ा रखा और फिर उसको किस करने लगा, ताकि वो आवाज ना कर सके. फिर मैंने धीरे से एक धक्का मारा तो वो थोड़ी सी झटपटाई तो मैंने थोड़ा सा और झटका दिया. अब मेरा सुपाड़ा अंदर जा चुका था और उसकी आँखों में से आसूं निकल रहे थे.

फिर मैंने उसके मुँह से अपने होंठ हटाए तो तब वो बोली कि बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज बाहर निकाल लो, लेकिन मैंने उसकी एक भी नहीं सुनी और झटका लगाने लगा, लेकिन अब मेरा लंड अंदर नहीं जा रहा था, शायद उसकी सील नहीं जाने दे रही थी. फिर मैंने उसको किस करते हुए ज़ोर से एक झटका दिया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ अंदर चला गया और फिर मैंने उसके मुँह से अपने होंठ हटा लिए.

अब वो रो रही थी और उसे बहुत दर्द हो रहा था. अब वो बार-बार बोल रही थी कि इसे बाहर निकालो प्लीज, लेकिन में नहीं माना और लगातार धक्के मारता रहा. अब 15 मिनट के बाद उसे भी मज़ा आने लगा था और अब वो भी आह, आह करके मज़े लेने लगी थी. अब वो 2 बार झड़ गई थी. अब में भी झड़ने ही वाला था, तो तब वो बोली कि थोड़ी स्पीड बढ़ाओ, में आने वाली हूँ. फिर तब मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा ली और अब जैसे ही वो झड़ने वाली थी तो उसने मुझे अपने आपसे चिपका लिया और उसी वक्त मेरा भी पानी उसकी चूत में ही निकल गया. फिर हम 30 मिनट तक आराम करने के बाद ज़ू से चल पड़े. फिर रास्ते से मैंने उसके लिए दर्द की गोली और एक आई-पिल की गोली लाकर दी, ताकि वो प्रेग्नेंट ना हो. फिर मैंने उसको उसके स्टेंड पर छोड़ा और खुद अपने घर चला गया ..

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *