बीवी को गैर मर्द की गोद में बैठाया

हैल्लो दोस्तों, आज में आपको मेरी एक सच्ची घटना बताने जा रहा हूँ. अब में आपका समय ज्यादा ख़राब ना करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ. मेरा नाम अजय है, मेरी एक बहुत ही सुंदर वाईफ किरण है, हम दिल्ली में रहते है. अभी कुछ टाईम से हमारी सेक्स लाईफ कुछ खास नहीं थी, हम रोजाना सेक्स करते थे, लेकिन जो बात हमारी शादी की शुरुआत के 5 साल में थी, वो अब नहीं थी.

एक दिन मेरे एक दोस्त ने मुझे एक ब्लू फिल्म की सी.डी दी. फिर मैंने उसे शाम को घर पर आकर अपनी वाईफ के साथ देखा, उस ब्लू फिल्म में दो कपल आपस में सेक्स कर रहे थे. फिर मैंने देखा कि किरण उस सी.डी को देखकर बहुत उत्तेजित हो रही थी, वो कुछ बोल नहीं रही थी सिर्फ़ देखे जा रही थी. फिर मैंने यह देखकर उसकी पीठ पर अपना एक हाथ फैरा तो वो मेरी गोद में आकर बैठ गयी और मेरे कान को अपनी जीभ से छेड़ने लगी थी.

अब में भी उत्तेजित था, उस टाईम किरण ने साड़ी पहनी थी जो उसकी जांघो तक ऊपर हो गयी थी. फिर मैंने उसकी टाँगो पर अपना हाथ फैरना शुरू किया और फिर धीरे-धीरे हमने अपने कपड़े उतार दिए. फिर उस दिन हमने 3 बार सेक्स किया. अब हम दोनों ही बहुत उत्तेजित थे. फिर उस दिन के बाद से मैंने उसे ग्रुप सेक्स की स्टोरी सुनानी शुरू की. अब वो यह सब सुनकर बहुत उत्तेजित होती थी.

एक दिन मैंने किरण से पूछा कि किरण क्या तुम चाहती हो कोई और पार्ट्नर हमारी लाईफ में आए? तो यह सुनकर किरण का मुँह शर्म के मारे एकदम लाल हो गया. किरण एक शर्मीली लड़की थी, वो कुछ नहीं बोली बस चुप रही और बात पलट दी.

फिर मैंने अगले दिन फिर से यही पूछा तो वो कुछ नहीं बोली. तो तब में समझ गया की वो चाहती है. फिर मैंने उस दिन कुछ इंटरनेट की वेबसाईट में विज्ञापन दिया. फिर हमें कुछ रेस्पॉन्स मिले, तो तब हमने एक कपल को सेलेक्ट किया. वो डॉक्टर था और उसकी उम्र 33 साल थी और उसकी वाईफ 30 साल की थी, हमारी भी यही उम्र थी. फिर कुछ दिन फोन पर बात करने के बाद हमने एक होटल में मिलना तय किया.

अब हम शाम को 5 बजे होटल के रूम नम्बर 23 में जाने के लिए तैयार हो रहे थे. तो तब मैंने देखा कि किरण आज बहुत ही ध्यान से तैयार हो रही थी. फिर में बेडरूम में गया तो किरण बिल्कुल नंगी सिर्फ़ चूड़ियाँ पहने हुए ड्रेसिंग टेबल के सामने बैठी हुई थी. अब उसे देखकर में उत्तेजित हो गया था, लेकिन मैंने कंट्रोल किया. फिर हम शाम को टाईम पर रूम में पहुँचे. फिर हमने नॉक किया तो अंदर से संदीप ने दरवाजा खोला. फिर उसने हमारा वेलकम किया और अब हम रूम के अंदर सोफे पर बैठे थे, अभी किरण और में साथ-साथ बैठे थे.

फिर उन्होंने बताया कि अन्नू अभी तैयार हो रही है. फिर संदीप ने हमसे ड्रिंक्स के बारे में पूछा. तो मैंने हाँ कर दी, किरण ड्रिंक्स नहीं लेती थी तो उसने सिर्फ़ कोक लिया. अब हमारी बातें स्टार्ट हो गयी थी. तभी इतने में अन्नू रूम से बाहर आ गयी. अब उसको देखकर मेरा लंड अपने आप हिलने लगा था, वो बहुत स्मार्ट और सेक्सी लेडी थी और 36 साईज के बूब्स एकदम ठीक फिगर. उसने साड़ी पहनी हुई थी.

उसने मुझसे हाथ मिलाने के लिए अपना हाथ आगे किया तो उसके हाथ को टच करते ही मेरे शरीर में एक करंट लगा. फिर अन्नू अपने पति के पास जाकर बैठ गयी. तभी इतने में संदीप ने कहा कि अब जब हमारे बीच में सब ओपन करने की बात हो ही गयी है, तो अब क्या शरमाना? अब इन्जॉय करो. तो यह सुनकर किरण डर गयी और उसने मेरा हाथ ज़ोर से पकड़ लिया. फिर संदीप ने किरण का हाथ हल्के से अपने हाथ में लिया और अपने पास बुलाया. अब किरण शर्मा रही थी, उसके गाल एकदम लाल हो रहे थे, अब वो कुछ बोल नहीं पा रही थी.

अब अन्नू भी मेरे पास आ गयी थी. अब किरण संदीप के साथ सोफे पर और अन्नू मेरे साथ बैठी थी. फिर मैंने अन्नू का हाथ अपने हाथ में लिया और एक किस किया. अब अन्नू की आँखे बंद थी. अब वो भी कुछ शर्मा रही थी. फिर मैंने देखा कि संदीप किरण को अपनी गोद में बैठने के लिए कह रहा था, लेकिन किरण मना कर रही थी. फिर संदीप ने किरण को सोफे पर से उठाया और उसको पास में पड़ी एक कुर्सी के पास ले गया. अब संदीप कुर्सी पर बैठ गया था और किरण को अपनी गोद में खींचा. जब किरण ने साड़ी पहन रखी थी, इसलिए किरण एक साईड पर करके उसकी गोद में बैठ गयी थी.

अब किरण कुछ ओपन हो गयी थी. अब किरण को साड़ी में बैठने पर परेशानी हो रही थी. फिर तभी इतने में अन्नू ने किरण से बोला कि किरण साड़ी उतार दो, यह सब कपड़ो के साथ नहीं होता है. तब किरण ने कुछ नहीं कहा. तभी इतने में संदीप ने किरण के गालों पर किस किया और उसका चेहरा अपनी साईड में करके उसके होंठो पर अपनी जीभ लगाई.

अब यह सब देखकर में उत्तेजित हो रहा था. दोस्तों यकीन करो अपनी वाईफ को किसी और की गोद में देखकर में बहुत उत्तेजित हो गया था. अब किरण भी कुछ उत्तेजित हो रही थी. फिर संदीप ने किरण की साड़ी को कुछ ऊपर किया और उसकी टांगो पर अपना हाथ फैरना स्टार्ट कर दिया. अब मैंने अन्नू की साड़ी उतार दी थी और वो मेरी पेंट के ऊपर से मेरे लंड पर अपना एक हाथ फैर रही थी. फिर संदीप ने किरण की साड़ी को धीरे-धीरे उतारना स्टार्ट किया.

अब किरण इस टाईम संदीप के बालों में अपना हाथ फैर रही थी. फिर किरण की साड़ी उतरने के बाद संदीप ने उसका ब्लाउज और पेटीकोट भी उतार दिया. अब किरण ब्रा और पेंटी में संदीप के सामने थी. फिर संदीप ने अपनी पेंट को उतारा और फिर अपनी शर्ट को उतारा तो मुझे देखकर यकीन नहीं हुआ, जब मैंने देखा कि किरण संदीप का अंडरवेयर उतार रही थी.

अब संदीप का लंड किरण के हाथ में था और संदीप किरण की चूत में अपनी एक उंगली कर रहा था. अब किरण की चूत में से रस निकल रहा था और पच-पच की आवाज आ रही थी. अब यह सीन देखकर अन्नू और में बहुत उत्तेजित हो रहे थे. फिर हमने अपने सारे कपड़े उतार दिए, मुझे चूत चाटने का बहुत शौक है. फिर मैंने अन्नू को फर्श पर लेटाया और उसकी दोनों टांगे खोलकर अपनी जीभ उसकी चूत पर लगाई तो उसके मुँह से आवाज निकलने लगी ओह अजय तुम किसी भी लड़की को अपना दीवाना बना सकते हो. अब वो बहुत उत्तेजित थी.

अब संदीप ने अपना लंड किरण के मुँह में दिया था, तो किरण ने भी उसके लंड को चूसना स्टार्ट कर दिया. अब धीरे-धीरे कमरे का माहौल गर्म हो रहा था और पच-पच की आवाज़े तेज हो रही थी. फिर तभी इतने में अन्नू एकदम से उठी और मेरे लंड को अपने मुँह में लेने लगी और फिर उसने मुझे चोदने को कहा. फिर अन्नू ने मुझसे कहा कि वो अपने पति के बिल्कुल सामने चुदना चाहती है, तो तब हम दोनों उनके सामने आ गये.

अब किरण अभी तक संदीप का लंड चूस रही थी. फिर मैंने अन्नू को जमीन पर लेटाकर एक जोरदार झटका मारा, तो अन्नू के मुँह से जोरदार सिसकारी निकल गयी. अब किरण से भी नहीं रहा जा रहा था. फिर किरण उठकर मेरे पास आई और मेरे कूल्हों पर अपना हाथ फैरने लगी. किरण को हाथ फैरता देखकर संदीप भी पास अन्नू के पास गया और अपनी वाईफ के बूब्स दबाने लगा. अब इस टाईम मुझे जो महसूस हुआ, वो बहुत ही अजीब था.

मैंने महसूस किया की संदीप का हाथ मेरी बॉडी पर था. अब वो मेरे लंड के पास अपना हाथ फैर रहा था, जैसे कह रहा हो और ज़ोर से चोदो मेरी वाईफ को. अब किरण शायद बहुत उत्तेजित हो गयी थी तो तब वो बोल पड़ी कि संदीप अब प्लीज मेरी भी चुदाई कर दो, अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है. तो यह सुनकर संदीप ने किरण लेटाया. अब किरण ने अपनी दोनों टांगे खोल रखी थी.

संदीप ने उसकी चूत पर अपना एक हाथ मारा तो उसका हाथ गीला हो गया था और फिर अपने लंड को उसकी चूत में डाल दिया. अब संदीप बहुत स्पीड से चोद रहा था और किरण भी अपने कूल्हों को ऊपर कर-करके चुदवा रही थी. तब इतने में संदीप ने किरण के कूल्हों पर एक थप्पड़ मारा. तो तब अन्नू ने बताया कि संदीप की आदत है, वो उसे भी ऐसे ही चोदता है. अब संदीप अन्नू के बूब्स भी दबा रहा था. दोस्तों फिर हमने मिलकर खूब सेक्स किया और बहुत मजा लिया.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *